Vilom Shabd Class 6 विलोम शब्द Chapter wise CBSE

विलोम शब्द Class 6 Chapter wise CBSE

यहाँ पर हम कक्षा 6 के विद्यार्थियों के लिए हिंदी पुस्तक के विभिन्न पाठों में आये हुए विलोम शब्दों (Vilom Shabd Class 6) का अर्थ और वाक्य प्रयोग स्पष्ट कर रहे हैं ताकि छात्र परीक्षा में पूछे जाने पर इन विलोम शब्दों के प्रश्न में पूर्ण अंक प्राप्त कर सकें।

Vilom Shabd Class 6 Chapter वह चिड़िया जो

शब्द  – विलोम शब्द

रुचि – अरुचि

रुचि – वह आईस क्रीम रुचि से खाता है।

अरुचि –  उसे सिनेमा से अरुचि है।

संतोषी – अंसतोषी

संतोषी – वह संतोषी व्यक्ति है।

असंतोषी –  सब कुछ मिलने के बाद भी वह असंतोषी ही बना रहा ।

Vilom Shabd Class 6 Chapter बचपन

शब्द  – विलोम शब्द

सयाना – नौसिखिया

सयाना- वह अपने को बहुत सयाना समझता है।

नौसिखिया- इस काम में वह नौसिखिया है।

सफेद – काला

सफेद –  वहाँ एक सफेद  खरगोश खड़ा  बैठा है।

काला –  उसका कोट एकदम काला है।

गरम – ठंडा

गरम – उसने गरम कोट पहन रखा है।

ठंडा – अंततः उसे ठंडा खाना ही कहना पड़ा ।

अंदर – बाहर

अंदर – अंदर कमरे में बहुत घुटन है।

बाहर –  बाहर अकेले मत जाओ।

बचपन – बुढ़ापा

बचपन – बचपन में उसे आम खाने की आदत थी।

बुढ़ापा – बेटा बुढ़ापा में सहारा बनता  है।

आरामदेह – तकलीफदेह

आरामदेह –  यह सोफ़ा बहुत आरामदेह है।

तकलीफदेह –  यह तुम्हारे लिए बहुत तकलीफ देह होगा ।

शुरू – अंत

शरू – बहुत तेज बारिश शरू हो गई ।

अंत –  नाटक का अंत अच्छा नहीं था ।

मुश्किल – सरल

मुश्किल – यह अत्यंत मुश्किल कार्य है।

सरल –  यह बहुत सरल है।

दूरी – पास

दूरी –  आगरा की दूरी अलीगढ़ से बहुत कम है।

पास – मेरे घर के पास एक मंदिर है।

खुशबू – बदबू

खुशबू –  कमरे से बहुत सुंदर खुशबू आ रही थी।

बदबू – बदबू से  कमरे में बैठना मुश्किल हो रहा है।

हष्ट-पुष्ट – मरियल

हष्ट पुष्ट – दौड़ के घोड़े बहुत हशत पुष्ट होते है।

मरियल –  मरियल घोड़े दौड़ में फिसड्डी होते है।

आकाश – पाताल

आकाश –  आकाश में चाँद निकल आया है।

पाताल – पाताल में नागराज का वास है।

सूर्यास्त – सूर्योदय

सूर्यास्त –  सूर्यास्त होने वाला है।

सूर्योदय – सूर्योदय की छटा बहुत निराली होती है।

कोलाहल – शांत

कोलाहल – सड़क पर बहुत कोलाहल है।

शांत  –  रात में सड़क शांत हो जाती है।

Vilom Shabd Class 6 Chapter नादान दोस्त

शब्द  – विलोम शब्द

सवेरे – साँझ

सवेरे – आज सवेरे ही मुझे आज जाना होगा ।

साँझ –  साँझ को ही हम सैर  को जा पाएंगे ।

सुध – बेसुध

सुध – काम के चक्कर में उसे खाने  की सुध नहीं रही।

बेसुध –  नशे में  वह पूरी रात बेसुध पड़ा रहा।

सवाल – जवाब

सवाल – प्रतियोगिता में पूछे गए सवाल बहुत कठिन थे।

जवाब –  जवाब तुम्हें जल्द मिल जाएगा ।

विद्वान – मूर्ख

विद्वान – यह एक विद्वान लोगों का जमावड़ा है।

मूर्ख –  मूर्ख लोगों का साथ छोड़ देना चाहिए ।

गरीब – अमीर

गरीब –  गरीब होकर भी उसका दिल बहुत बडा है।

अमीर –  उसकी शादी एक अमीर  लड़की से हुई है।

खुश – दुख

खुश – अच्छी खबर सुनकर वह बहुत खुश हुआ ।

दुख –  आज उसे अपने घर की याद आने से बहुत दुख हुआ ।

धूप – छाया

धूप – धूप में पौधे मुरझा जाते है।

छाया –  पेड़ की छाया उसके चेहरे पर पड़ने लगी।

चालाक – मूर्ख

चालाक –  लोमड़ी चालाक जानवर है।

मूर्ख –  वह बहुत मूर्ख है।

करुण – हास्य

करुन – उसका स्वर अत्यंत करून था।

हास्य – वह उत्कृष्ट हास्य कलाकार है।

Vilom Shabd Class 6 Chapter अक्षरों का महत्व

शब्द  – विलोम शब्द

मूल – निर्मूल

मूल –  ध्वनि भाषा का मूल रूप है।

निर्मूल – पहले उसे निर्मूल करना होगा ।

कल्पना – वास्तविकता

कल्पना – मैं इसकी कल्पना भी नहीं कर सकता ।

वास्तविकता – तुम्हें वास्तविकता से परिचित होना होगा ।

ज्ञान – अज्ञान

ज्ञान –  मनुष्य को अक्षरों का ज्ञान बाद में हुआ।

अज्ञान – अज्ञान के कारण मन वहाँ भटकता रहता है।

धरती – आसमान

धरती – धरती पर दूर – दूर तक हरियाली छाई हुई थी।

आसमान –  आसमान में धुंध  छा  गई ।

जन्म – मृत्यु

जन्म –  उसका जन्म बहुत शुभ मुहर्त  में हुआ।

मृत्यु –  मृत्यु अटल है।

मानव – दानव

मानव –  मानव ने सबसे पहले चित्र के माध्यम से भाव व्यक्त किए।

दानव –  गुस्से में तुम बिल्कुल दानव  बन जाते हो।

सभ्य – असभ्य

सभ्य – अक्षरों के विकास के साथ ही मनुष्य सभ्य कहा जाने लगा ।

असभ्य –  तुम इतने  असभ्य कैसे हो सकते हो ।

राजा – रंक

राजा –  राजा बहुत अत्याचारी था ।

रंक- रंक द्वार पे खाद्य भीक मांग रहा था।

Vilom Shabd Class 6 Chapter पार नजर के

शब्द  – विलोम शब्द

आदमी – जानवर

आदमी –  आदमी का व्यवहार ही उसकी वास्तविक संपत्ति है।

जानवर –  शिक्षा के बिना मनुष्य जानवर के समान है।

प्रवेश – निकास

प्रवेश –  यहाँ मुख्य प्रवेश द्वार पर शुल्क लगता है।

निकास- वह इस महल का निकास द्वार है।

मुमकिन – नामुमकिन

मुमकीन –  मेरा साथ चलना मुमकीन नहीं होगा ।

नामुमकिन – कोई भी काम नामुमकिन नहीं होता ।

उष्णता – आदरता

उष्णता – सूरज से हमें उष्णता मिलती है।

आदर्ता  –  वातावरण की आदर्ता  अब बढ़ने लगी है।

अक्षम – सक्षम

अक्षम – मैं इस काम को करने में अक्षम हूँ ।

सक्षम –  जो सक्षम होते है ओ अपना काम  खुद कर लेते है।

Vilom Shabd Class 6 Chapter पार नजर के

शब्द  – विलोम शब्द

असंभव – संभव

असंभव – यह काम मेरे लिए असंभव है।

सुनिश्चित – असुनिश्चित

सुनिश्चित – सभी श्रोता अपना स्थान सुनिश्चित करें

असुनिश्चित – पटना जाने का कार्यक्रम अभी असुनिश्चित है।

सुरक्षा – असुरक्षा

सुरक्षा – घर की सुरक्षा की जिम्मेवारी अब तुम पर है।

असुरक्षा – आए दिन की घटनाओं से उसके मन असुरक्षा की भावना घर कर गई है।

आरंभ – अंत

आरंभ – खेल का आरंभ होने वाला है,।

अंत – आज कथा का समापन है।

सामाजिक – असामाजिक

सामाजिक – वह एक सामाजिक आदमी है।

असामाजिक – इलाके के असामाजिक तत्वों ने जीना मुश्किल कर दिया है।

यांत्रिक – तांत्रिक

यांत्रिक – अचानक एक यांत्रिक हाथ बाहर आया

तांत्रिक – तांत्रिक लोगों पर विश्वाश करना मुश्किल है।

अज्ञात – ज्ञात

अज्ञात – ज्ञात

अज्ञात – कुछ अज्ञात लोगों के विरुद्ध रिपोर्ट लिखी गई है।

ज्ञात – यह खबर मुझे अभी अभी ज्ञात हुई है।

सफलता – असफलता

सफलता – मुश्किल से उसे सफलता मिली

असफलता – ध्यान न होने के कारण तुम्हें असफलता मिली है।

सृष्टि – विध्वंश

सृष्टि – मंगल पर भी सृष्टि का अस्तित्व है।

विध्वंश – प्रलय के बाद जीवन का विध्वंश हो जाएगा ।

रहस्य – प्रकट

रहस्य – इस हवेली का रहस्य अभी बरकरार है।

प्रकट – आज उसने अपने प्रेम का इजहार प्रकट में कर दिया।

Vilom Shabd Class 6 Chapter साथी हाथ बढ़ाना

शब्द  – विलोम शब्द

साथी – दुश्मन

साथी – राम मेरा बचपन का साथी है।

दुश्मन – इस काम के  करने से उसके कई दुश्मन बन गए।

मेहनत – आलसी

मेहनत – अपनी मेहनत से उसने सफलता अर्जित की है।

आलसी – जो आलसी होते है वे जीवन में पिछड़ जाते है।

सीस – कदम

सीस – भगवान के सामने उसने अपना सीस  झुकाया

कदम – सफलता जल्द हि उसके कदम चूमेगी ।

गैरों – अपनों

गैरों – गैरों की खातिर उसने अपना जीवन बर्बाद कर लिया ।

अपनो – अपनों ने ही उसे लूट लिया

कतरा – दरिया

कतरा – कतरा कतरा कर घड़ा भरता है।

दरिया – दरिया की  तरफ सब जानवर दौड़ पड़े

इंसान – हैवान

इंसान – शिक्षा मनुष्य को अच्छा इंसान बनाती है।

हैवान – क्रोध में वह बिल्कुल हैवान हो जाता है।

किस्मत – बदकिस्मत

किस्मत – उसकी किस्मत बहुत बुलंद है।

बदकिस्मत – बदकिस्मत से अंतिम बस भी छूट गई।

Vilom Shabd Class 6 Chapter ऐसे ऐसे

शब्द  – विलोम शब्द

सुंदर – असुंदर

सुंदर – उसका घर बहुत सुंदर है।

असुंदर – वह असुंदर पर उसका मन सुंदर है।

दृश्य – अदृश्य

दृश्य – यहाँ का दृश्य बहुत सुंदर है।

अदृश्य – अभी बहुत कुछ अदृश्य है।

बेचैन – स्थिर

बेचैन – वह बेचैन सा टहलता रहा

स्थिर – अब वह स्थिर   हो गया था।

सफेद – काला

सफेद – उसने सफेद कपड़ा पहन रखा है।

काला – उस पर काला रंग खूब फबता है। ।

दर्द – आराम

दर्द – आज पेट मैं बहुत दर्द है।

आराम – अब जाकर मुझे आराम मिल गया।

नटखट – शांत

नटखट – मोहन बहुत नटखट है।

शांत – रमेश एक शांत और सुशील लड़का है।

डर – निडर

डर – डर  के मारे उसकी हालत खराब हो गई।

निडर – निडर होकर वह आगे बढ़ा ।

शाम – सुबह

शाम – शाम का नजारा बहुत सुंदर है।

सुबह – सुबह सुबह एक  घटना हो गई।

असल – नकल

असल – असल में वह बहुत चालाक है।

नकल – नकल के लिए भी अक्ल चाहिए

मौन – मुखर

मौन – मौन होकर भी वह बहुत कुछ कह देता है।

मुखर – उसका पुत्र बहुत मुखर है।

इनकार – स्वीकार

इनकार – उसने कहने से इनकार कर दिया।

स्वीकार – आज उसने अपने प्रेम को स्वीकार कर लिया।

Vilom Shabd Class 6 Chapter टिकट अल्बम

शब्द  – विलोम शब्द

घमंडी – विनम्र

घमंडी – राजकुमारी बहुत घमंडी और नकचढी थी

विनम्र – राजकुमार बहुत विनम्र स्वभाव का था।

शांतिपूर्वक – कोलाहलपूर्ण

शांतिपूर्वक – शांतिपूर्वक जुलूस निकाल गया।

कोलाहलपूर्ण – विद्यालय का माहौल अत्यंत कोलाहल पूर्ण था।

खुश – दुख

खुश – सामने अपनी माँ  को देखकर वह बहुत खुश हुआ।

दुख – इतनी ओछी बात सुनकर उसे बडा दुख हुआ।

उत्सुक – अनुत्सुक

उत्सुक – वह समारोह में आने के लिए बहुत उत्सुक थे।

अनुत्सुक – शादी में जाने के लिए वह अनुत्सुक था।

अगुआ – पिछूआ

अगुआ – वह दल का अगुआ बना।

पिछूआ – वह हमेशा पिछूआ ही रहता है।

बड़ा – छोटा

बड़ा – – उसके पास एक बड़ा सा बक्सा  था

छोटा – उसने एक छोटा सा कमरा किराया पर लिया ।

मशहूर – बदनाम

मशहूर – राम शहर का एक मशहूर व्यापारी था।

बदनाम – वह एक बदनाम बस्ती में रहता है।

अपमान – सम्मान

अपमान – भरी सभा में द्रौपदी का अपमान हुआ।

सम्मान – आज स्कूल की ओर से उसे सम्मान दिया जाएगा

शहर – गाँव

शहर – शहर में एक बडा आयोजन होने वाला है।

गाँव – गाँव में जल्दी ही स्कूल खुलने वाला है,।

चिंतित – अचिंतित

चिंतित – वह नौकरी के लिए बहुत चिंतित था।

अचिंतित – वह अत्यंत अचिंतित था।

भयानक – आकर्षक

भयानक – उसका चेहरा अत्यंत भयानक हो गया था।

आकर्षक – उसका आकर्षक चेहरा सबको प्रभावित करता यह।

शक – यकीन

शक – आज उसे अपने पति पर शक हुआ।

यकीन – उसे यकीन था कि आज वह आएगा ।

भीतर – बाहर

भीतर – वह आज भीतर ही सोएगा

बाहर – आज वह बाहर ही सोएगा

बंद – खुला

बंद – आज स्कूल बंद है।

खुला – खुला घर देख चोर अंदर आ गए।

Vilom Shabd Class 6 Chapter झांसी की रानी

शब्द  – विलोम शब्द

बूढ़े – जवान

बूढ़े – बूढ़े लोग जल्दी थक जाते है।

जवान – जवान लोग ऊर्जा से सरोबार होते है।

गुम – मिला

गुम – आज मेरा एक बहुमूल्य चीज गुम हो गया है।

मिला – आज मुझे एक नायाब चीज मिला  है।

पुरानी – नई

पुरानी – मैं पुरानी चीजों का खरीददार हूँ

नई – रमन की साइकिल नई है।

रानी – नौकरानी

रानी – रानी आज बहुत सुंदर थी।

नौकरानी – नौकरानी आज नहीं आई है।

वीरता – कायरता

वीरता – इस बार उन्हे वीरता पुरस्कार मिला है।

कायरता – उसकी कायरता अत्यंत शर्मनाक है।

नकली – असली

नकली – आजकल नकली दूध खूब मिलता है।

असली – असली काम तो अभी बाकी है।

युद्ध – शांति

युद्ध – युद्ध में आज कई योद्धा मारे गए

शांति – शांति से जीना ही मेरा मकसद है।

प्रिय – अप्रिय

प्रिय – राम दशरथ के प्रिय पुत्र थे।

अप्रिय – आज एक बहुत अप्रिय समाचार मिला।

वैभव – दैन्य

वैभव – जमींदार के पास अथाह वैभव था।

दैन्य – वह अत्यंत दैन्य अवस्था से गुजर रहा था।

उदित – अस्त

उदित – आसमान में सूर्य उदित हो रहा है।

अस्त – अस्त होते सूर्य की आराधना की पुरानी परंपरा है।

सौभाग्य – दुर्भाग्य

सौभाग्य – शादी के बाद उसका सौभाग्य उदित हुआ।

दुर्भाग्य – दुर्भाग्य ने उसकी जिंदगी बर्बाद कर दिया।

उजयाली – अंधियारी

उजयाली – उजयाली चाँदनी सर्वत्र पसरी हुई थी।

अंधियारी – अंधियारी रात जल्द खत्म हो जाएगी।

विधवा – सधवा

विधवा – विधवा होकर भी उसने अपने बच्चों को पाला।

सधवा – इस पूजा में केवल सधवा का आना ही अपेक्षित है।

शोक – हर्ष

शोक – पिता के मरने का उसे बहुत शोक है।

हर्ष – आज हर्ष से वह फुला नहीं समा रहा है।

लावारिस – वारिस

लावारिस – उसकी लास लावारिस हालत में पड़ी थी ।

वारिस – वह अपने पिता का अंतिम वारिस है।

दया – क्रूरता

दया – उसकी हालत पर मुझे दया आ गई

क्रूरता – आज उसने क्रूरता की सभी हदें पार कर डी

दासी – महारानी

दासी – आज दासी  नहीं आएगी

महारानी – महारानी आज पधार रही है।

कैद – मुक्त

कैद – आज वह कैद से मुक्त हो गया

मुक्त – पिंजरे में बंद सभी पक्षियों को मैंने मुक्त कर दिया ।

अपमान – सम्मान

अपमान – आज मुझे बहुत अपमान लग रहा है।

सम्मान – मैं तुम्हारा बहुत सम्मान करता हूँ

महल – झोपड़ी

झोपड़ी – झोपड़ी में एक दीप जल रहा था।

महल – महल में कई लोग काम करते थे।

स्वतंत्रता – परतंत्रता

स्वतंत्रता – आज स्वतंत्रता की  पहली वर्षगांठ है।

परतंत्रता – मुझे तुम्हारी परतंत्रता अस्वीकार है।

अमर – मृत

अमर – अपनर कर्मों से वह अमर हो गया

मृत – वह एक मृत प्राय जानवर है।

सन्मुख – उन्मुख

सन्मुख – वह मेरे सन्मुख खड़ा था।

उन्मुख – राम मेरे उन्मुख खड़ा था।

सच्ची – झूठी

सच्ची – यह कहानी बहुत सच्ची है।

झूठी – मैं तुम्हारी  झूठी कहानी पर विश्वास नहीं कर सकता।

मनुज – दनुज

मनुज – मनुज रूप धर कर हमें सदैव अच्छे कार्य करना है।

दनुज – उसका दनुज रूप अत्यंत भयंकर है।

जीवित – मृत्यु

जीवित – संवेदना प्रत्येक जीवित  प्राणियों की पहचान है।

मृत्यु – वह आज मृत्यु को प्राप्त हुआ।

कृतज्ञ – कृतघ्न

कृतज्ञ – मैं आपका बहुत कृतज्ञ हूँ

कृतघ्न – वह एक कृतघ्न आदमी है।

Vilom Shabd Class 6 Chapter जो देख कर भी नहीं देखते

शब्द  – विलोम शब्द

विश्वास – अविश्वास

विश्वाश – मुझे पूरा विश्वास है कि वह सफल होगा .

अविश्वास – उसने मुझे अविश्वाश की नजर से देखा ।

स्पर्श – एहसास

स्पर्श – मुझे फूलों का स्पर्श अच्छा लगता है।

एहसास – तुम्हारी उपस्थिति का एहसास है मुझे

मखमली – खुरदरी

मखमली – धतरी पर बिछी मखमली घास अत्यंत सुंदर है,

खुरदरी – यह जमीन खुरदरी है।

मधुर – कटु

मधुर – तुम्हारी आवाज बहुत मधुर है।

कटु – इतनी कटु जुबान से मत बोलो ।

आशीर्वाद – अभिशाप

आशीर्वाद – दृष्टि मनुष्य के लिए आशीर्वाद है।

अभिशाप – अशिक्षा मनुष्य के लिए अभिशाप है।

Vilom Shabd Class 6 Chapter संसार पुस्तक है

शब्द  – विलोम शब्द

जवाब – सवाल

जवाब – इसका जवाब तुम्हें जल्द  मिल जाएगा ।

सवाल – यह सवाल तों बहुत उलझाऊ है।

आशा – निराशा

आशा – मैं आशा करता हूँ कि  सब ठीक हो

निराशा – बेटे के न आने से उसकी निराशा बढ़ने लगी।

आबाद – बर्बाद

आबाद – यह एक आबाद इलाका है।

बर्बाद – नशे ने उसे बर्बाद कर दिया ।

पत्थर – पानी

पत्थर – एक बड़ा सा  पत्थर रसे में पड़ा था ।

पानी – नदी पानी से लबालब भरी थी

चिकना – खुरदरा

चिकना – अस्पताल का फर्श बहुत चिकना और सपाट है।

खुरदरा – आगे का रास्ता खुरदरा है।

गोल – लंबा

गोल –  मंदिर का गोल गुंबद बहुत सुंदर है।

लंबा – अभी एक लंबा काला नाग गुजरा है यहाँ ।

बूंद – समुद्र

बूँद – बूँद  बूँद  से घड़ा भरता  है।

समुद्र – समुद्र का पानी खारा  होता है।

Vilom Shabd Class 6 Chapter मैं छोटी होऊं

शब्द  – विलोम शब्द

सदा – एकदा

सदा – वह सदा मेरे पास ही रहेगा

एकदा – टु एकदा तो मेरे पास आओ।

खिला – मुरझाया

खिला – आज गुलाब का फूल खिला है

मुरझाया – उसका चेहरा आज मुरझाया हुआ है।

सुखद – दुखद

सुखद – आज का दिन बहुत सुखद रहा ।

दुखद – यह अत्यंत दुखद खबर है।

निर्भय – सभय

निर्भय – शेर निर्भय होकर जंगल में घूम रहा है।

सभय – वह सभय नेत्रों से देख रहा था।

Vilom Shabd Class 6 Chapter लोकगीत

शब्द  – विलोम शब्द

ताजगी – बासी

ताजगी – नहाने के बाद ताजगी का अनुभव हुआ।

बासी – यहाँ से  बासी खाना उठाओ

गाँव – शहर

गाँव – गाँव में अभी भी रीति रिवाज जिंदा है।

शहर – शहर पँहुचते ही मुझे फोन करना

उपेक्षा – अपेक्षा

उपेक्षा – वह लगातार मेरी उपेक्षा करता रहा

अपेक्षा – मैं तुमसे यह अपेक्षा कदापी नहीं कर सकता ।

निरदवंद – दवंद

निरदवंद – गाँव में जीवन निरदवंद लहराता है।

दवंद – सत्य असत्य का दवंद अभी भी कायम है। ।

अनेक – एक।

अनेक – भारत में अनेक धर्म के मानने वाले लोग रहते है।

एक – एक एक कर लोग जुडते गए और कारवां बनता  गया।

परदेशी – देशी

परदेशी – शहर में एक परदेशी  आया है।

देशी – देशी भाषा सर्व लोक प्रिय होती है।

करुणा – हास्य

करुणा – उसके गीतों से  करुणा  बरसता है।

हास्य – वह एक उम्दा हास्य कलाकार है।

विरह – मिलन

विरह – विरह के गीत अत्यंत पीड़ादाई होते है।

मिलन – आज आत्मा का परमात्मा से मिलन होगा।

ह्वास – विकास

ह्वास – धीरे धीरे सभ्यता का ह्वास है।

विकास – चरित्र का विकास ही वास्तविक शिक्षा है।

गद्य – पद्य

गद्य – मैं इन दिनो गद्य पर काम कर रहा हूँ

 

पद्य – मेरी पद्य  की अभिव्यक्ति बहुत सुंदर है।

अनंत – अंत

अनंत – मैं अनंत काल तक तुम्हारा आभारी हूँ

अंत – मैं अंत में तुमसे मिलना चाहता हूँ

भिन्न – अभिन्न

भिन्न – मैं तुमसे भिन्न नहीं सोच सकता हूँ ।

अभिन्न – वे दोनों अभिन्न मित्र हैं

शुभ – अशुभ

शुभ – शुभ समाचार अभी आने वाला है ।

अशुभ – अशुभ मुहूर्त में कोई कार्य नहीं हो सकता ।

Vilom Shabd Class 6 Chapter नौकर

शब्द  – विलोम शब्द

महीन – मोटा

महीन – बनारसी साड़ी की कढ़ाई बहुत महीन है।

मोटा – रोटी बनाने  के लिए मोटे आटे  का प्रयोग करना चाहिए

नौकर – मालिक

नौकर – मुझे नौकरों से काम करवाना पसंद नहीं है।

मालिक – मालिक का व्यवहार बहुत बढ़िया है।

महान – तुच्छ

महान – शिवाजी एक महान देशभक्त थे

तुच्छ – तुम्हारी यह तुच्छ भावना कभी फलित नहीं होगी

गंदगी – सफाई

गंदगी – गंदगी से बीमारियाँ फैलती है।

सफाई – दिवाली में घरों में की सफाई आवश्यक होती है।

कमजोर – ताकतवर

कमजोर – वह दिन पर दिन कमजोर होता जा रहा है।

ताकतवर – किसी ताकतवर आदमी से पंगा लेना खतरनाक होता है।

कालिख – सफेदी

कालिख – पतीली में कालिख लगी है

सफेदी – दीवारों पर सफेदी करवानी आवश्यक है।

असन्तुष्ट – संतुष्ट

असन्तुष्ट – मैं इस काम से असन्तुष्ट हूँ

संतुष्ट – इस उत्तर से मैं संतुष्ट हुआ ।

निर्माण – विध्वंश

निर्माण – सड़क का निर्माण कार्य प्रगति पर है।

विध्वंश – अंहकार के कारण कौरवों का विध्वश हुआ।

थकावट – आराम

थकावट – मुझे अज्ज बहुत थकावट महसूस हो रही है।

आराम – मुझे एक दिन की आराम की शखट आवश्यकता है।

शाकाहारी – मांसाहारी

शाकाहारी – इस होटल में शुद्ध शाकाहारी भोजन मिलता है।

मांसाहारी – मैं मांसाहारी भोजन बहुत चाव से खाता हूँ

अतिथि – अतिथेय

अतिथि – आज मेरे घर एक विशिस्ट अतिथि आने वाले है।

आतिथेय – अतिथेय के स्वागत से मेहमान बहुत खुश हुए ।

अनिवार्य – वैकल्पिक

अनिवार्य – सभी का आना अनिवार्य है।

वैकल्पिक – लोगों को बैठने कर लिए वैकल्पिक व्यवस्था कि गई थी ।

आदर – निरादर

आदर – मैं आपका बहुत आदर करता हूँ

निरादर – बड़ों का निरादर मैं बर्दाश्त नहीं कर सकता ।

कठिनाई – सरलता

कठिनाई – इस सवाल को करने में बहुत कठिनाई का अनुभव कर रहा हूँ

सरलता – उसने सरलता से इस काम को कर लिया ।

निष्फल – सुफल

निष्फल – तुम्हारी कोशश निष्फल नहीं होगी।

सुफल – तुम्हें तुम्हारे कार्यों का सुफल अवश्य मिलेगा।

प्रतिदान – दान

प्रतिदान – मैं तुम्हारा प्रतिदान देने में असमर्थ हूँ

दान – उसने अपना सारी दौलत दान में दे दी ।

Vilom Shabd Class 6 Chapter सांस- सांस में बांस

शब्द  – विलोम शब्द

बदलाव – ठहराव

बदलाव – यह बदलाव मेरे जीवन के लिए बहुत महत्व सिद्ध हुआ।

ठहराव – यहाँ यात्रियों के ठहराव की व्यवस्था की गई है।

इकट्ठा – बिखरा

इकठ्ठा – लकड़हारे ने लकड़ियों को इकट्ठा किया

बिखरा – सारा सामान बिखरा  हुआ है।

आकार – निराकार

आकार – उसका आकार बहुत बडा है।

निराकार – पानी का स्वरूप निराकार होता है।

सख्त – मुलायम

सख्त – मास्टर जी बहुत सख्त थे

मुलायम – उसका मन बहुत मुलायम है।

निर्भर – स्वछंद

निर्भर – वह अभी अपने माता पिता पर ही निर्भर है।

स्वछंद – वह अतीत स्वछंद स्वभाव का है।

पतली – मोटी

पतली – बांस से ही पतली खपच्चियाँ बनती है।

मोटी – सामान बांधने के लिए एक मोटी रस्सी की आवश्यकता होगी।

धारदार – भोथरा

धारदार – चाकू का धारदार सिरा उसे लग गया।

भोथरा – अब चाकू भोथरा हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *