विशाखापत्तनम रेलवे स्टेशन भारत का सबसे साफ, दरभंगा सबसे खराब

नई दिल्ली: विशाखापत्तनम रेलवे स्टेशन देश का सबसे साफ़, जबकि सिकंदराबाद दूसरे नंबर पर रहा| देश के सबसे व्यस्त 75 रेलवे स्टेशनो में किये गए सर्वे के अनुसार बिहार का दरभंगा सबसे गन्दा रेलवे स्टेशन पाया गया|

विशाखापत्तनम रेलवे स्टेशन भारत का सबसे साफ, दरभंगा सबसे खराब

सुरेश प्रभु ने रेलवे स्टेशन के सर्वे की लिस्ट जारी की

एक सर्वेक्षण के अनुसार, जिसकी रिपोर्ट आज रेल मंत्री सुरेश प्रभु द्वारा जारी की गई| जम्मू रेलवे स्टेशन ने तीसरे स्थान पर कब्जा कर लिया, जबकि नई दिल्ली स्टेशन को सबसे साफ़ स्टेशनों में 39 वां स्थान दिया गया। सर्वेक्षण भारत की गुणवत्ता परिषद द्वारा किया गया था| बिहार में दरभंगा रेलवे स्टेशन सबसे व्यस्त स्टेशनों में सबसे गन्दा पाया गया। रेलवे स्टेशनों को स्वच्छता के लिए पहचानने के लिए प्लेटफार्मों पर साफ शौचालय, स्टेशनों पर साफ पटरियां और कूड़ेदान थे।

स्वच्छ रेल‘ अभियान के तहत रेल परिसर पर एक टैब रखने के लिए रेलवे द्वारा की गई सफाई पर यह तीसरा सर्वेक्षण था। प्रभु ने सर्वेक्षण रिपोर्ट जारी करने के बाद कहा, हम सभी स्टेशनों को साफ करना चाहते हैं। कई स्टेशन हैं, जिन्होंने पिछली बार से उनकी सफाई रैंकिंग में सुधार किया है। आनंद विहार स्टेशन को 5 वां स्थान दिया गया| जबकि निजामुद्दीन और ओल्ड दिल्ली स्टेशन 23 वें और 24 वां स्थान पर रहे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लोकसभा क्षेत्र वाराणसी के रेलवे स्टेशन को 14 वां स्थान पर रखा गया है।

सर्वेक्षण में 407 रेलवे स्टेशन को शामिल किया गया

यह सर्वेक्षण कुल 407 स्टेशनों के लिए किया गया था| जिनमें से 75 ए-1 श्रेणी में हैं या सबसे व्यस्त स्टेशन हैं और 332 ए श्रेणी में हैं। बीस रेलवे स्टेशन सबसे स्वच्छ थे| अहमदनगर स्टेशन तीसरे स्थान पर रहा। दरभंगा रेलवे स्टेशन ए -1 श्रेणी में 75 वें स्थान पर था| जबकि जोगबानी ए श्रेणी में सबसे खराब। रेलवे में लगभग 8,000 स्टेशन हैं| जिन्हें अपने वार्षिक यात्री आय के आधार पर सात श्रेणियों- ए 1, ए, बी, सी, डी, ई और एफ में वर्गीकृत किया जाता है। यात्री स्टेशनों में प्रति वर्ष 50 करोड़ रुपये से अधिक का योगदान करने वाले स्टेशनों को ए -1 स्टेशन माना जाता है। ए श्रेणी के स्टेशन वार्षिक यात्री आय के रूप में 6 करोड़ से 50 करोड़ रुपये के बीच का योगदान करते हैं।