निगाहें

Advertisement

निगाहें तेरी बेगानी थी, नज़रें मैं मिलाया करता था
संवरते थे तुम औरों के लिए, आईना मैं दिखाया करता था

ना जाने कब साथ तेरा हमसे छूट गया यूँ ही
राह तुम चलते थे, मंज़िलें मैं दिखाया करता था

Advertisement

Instagram.com/hamarikalamsei

Advertisement
Advertisement