अपेक्षा और उपेक्षा में अंतर – श्रुतिसम भिन्नार्थक शब्द युग्म

Advertisement

अपेक्षा और उपेक्षा में क्या अंतर है – समोच्चरित भिन्नार्थक शब्द युग्म

अपेक्षा का अर्थ – इच्छा, आवश्यकता, तुलना में

उपेक्षा का अर्थ – निरादर

अपेक्षा का वाक्य प्रयोग-

अत्यधिक अपेक्षा दुख का कारण है।

Advertisement

उपेक्षा का वाक्य प्रयोग-

अपने प्रति इस उपेक्षा से वह आहत हो उठी।

apeksha ka arth – iksha, avashyakta,, tulna me

upeksha ka arth – niradhar

Advertisement

अपेक्षा और उपेक्षा शब्द युग्म के बारे में विभिन्न परीक्षाओं में कई प्रकार से प्रश्न पूछे जाते हैं। जैसे –

अपेक्षा का अर्थ, उपेक्षा का अर्थ, अपेक्षा और उपेक्षा में अंतर बताइये, अपेक्षा का वाक्य प्रयोग, उपेक्षा का वाक्य प्रयोग, अपेक्षा और उपेक्षा श्रुतिसम भिन्नार्थक शब्द युग्म में अंतर स्पष्ट कीजिये, आदि।

समोच्चरित भिन्नार्थक शब्द युग्म की विस्तार से जानकारी के लिए निम्न पोस्ट पढ़ें :-

500 श्रुतिसम भिन्नार्थक शब्द युग्म

10 Important शब्द युग्म जो परीक्षा में पूछे जा सकते हैं।

Advertisement