अपनी भूल की क्षमा याचना करते हुए पिता को पत्र लिखिए for class 6,7,8,9,10,11,12

Apni bhool ki Kshama yachna karte hue pita ko Patra विषय पर विभिन्न कक्षाओं के छात्रों के लिए यहाँ पर पत्र लेखन के उदाहरण दिये गए हैं। पत्र लेखन के इन उदाहरणों के आधार पर आप विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में भी पत्र लेखन कर सकते हैं।

अपनी भूल की क्षमा याचना करते हुए पिता को पत्र लिखिए। (11-12)

जयप्रकाश छात्रावास ,
सुल्तानपुर
उत्तर प्रदेश
दिनांक: 3-03-2021

आदरणीय पिताजी ,
सादर चरण स्पर्श

आशा है आप मेरे सभी स्नेही जनों के साथ सकुशल होंगे।मैं भी यहां कुशल से हूं पर अपनी एक भूल के कारण मैं आपसे क्षमा मांगता हूं। कुछ दिन पहले छात्रावास में मेरी कुछ वरिष्ठ छात्रों के साथ मारपीट हो गई थी इसकी शिकायत प्रधानाचार्य महोदय ने आपको लिखित सूचना देकर की थी। इस घटना से मैं अत्यंत शर्मिंदा हूं और अंदर ही अंदर एक अपराध बोध से दबा जा रहा हूं।

मुझे अपने किए पर पछतावा है और मैं यह स्वीकार करता हूं कि गलत सोहबत के कारण यह भूल मुझसे हो गई। इसकी वजह से आपको भी शर्मिंदा होना पड़ा।

पिताजी, मैं आपसे हाथ जोड़कर क्षमा याचना करता हूं।आप अपने पुत्र की इस भूल को क्षमा करें। मैं आपसे वादा करता हूं कि अब दोबारा ऐसा नहीं होगा।

मां को चरण स्पर्श और छोटे भाई बहनों को ढेर सारा प्यार।
आपका प्रिय पुत्र
का ख ग

अपनी भूल की क्षमा याचना करते हुए पिता को पत्र लिखिए। (9-10)

नवोदय आवासीय विद्यालय,
दादरी
दिनांक: 3-03-2021

पूजनीय पिताजी,
चरण स्पर्श

आशा है आप स्वस्थ और सानंद होंगे। मैं यह पत्र एक विशेष उद्देश्य से लिख रहा हूं। एक सामान्य दिनचर्या के बावजूद भी मुझसे जो भूल हुई उसकी वजह से मैं एक मानसिक पीड़ा से गुजर रहा हूं और जब तक इस भूल के लिए आप मुझे क्षमा नहीं कर देते तब तक मेरी दिनचर्या सामान्य नहीं रहेगी। मुझे उम्मीद है कि यह पत्र पढ़कर आप उस भूल के लिए मुझे अवश्य क्षमा कर देंगे।

पिता जी,आपको याद होगा कि पिछले इतवार को मुझे घर आना था लेकिन मैंने आप सब को यह बताया था कि इतवार को विद्यालय में एक सामान्य ज्ञान की प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है जबकि वास्तविकता यह थी कि मैं अपने दोस्तों के साथ पास के एक दर्शनीय स्थल पर गया था। घूमने-फिरने और सैर सपाटे के अपने मोह के कारण मैंने झूठ बोला लेकिन अंततः मुझे अपराध बोध हुआ और मुझे यह अनुभव हुआ कि मुझे ऐसा नहीं करना चाहिए था इसलिए मैं आपसे हाथ जोड़कर प्रार्थना करता हूं कि कृपया मुझे इस गलती के लिए क्षमा कर दें।

मां को मेरा प्रणाम कहिएगा और पिंकी को शुभाशीष।

शेष अगले पत्र में
आप का स्नेही पुत्र
कमल

अपनी भूल की क्षमा याचना करते हुए पिता को पत्र लिखिए। (7-8)

अमरनाथ झा छात्रावास ,
नेतरहाट विद्यालय
रांची
दिनांक : 1-3-2021

आदरणीय पिताजी,
सादर चरण स्पर्श

मैं यहां कुशल से हूं।आशा करता हूं कि आप भी वहां सकुशल होंगे। लंबे समय के बाद पत्र लिखने का कारण यह है कि मुझसे एक भूल हो गई है जिसके कारण मैं आपसे बात करने की हिम्मत नहीं कर पा रहा था। आपको तो पता ही होगा कि मई में मेरी तिमाही परीक्षा हुई थी जिसमें मेरे अच्छे नंबर नहीं आए थे लेकिन मैंने झूठी प्रशंसा पाने की लालसा और आपकी डांट से बचने के लिए आपको अच्छे नंबरों से पास होने की सूचना दी थी परंतु आगामी शिक्षक अभिभावक सम्मेलन में अभिभावकों का आना अनिवार्य है जिसमें सभी छात्रों की अंक तालिका दिखाई जाएगी। ऐसी स्थिति में मेरी झूठ की वजह से आपको शर्मिंदा ना होना पड़े इसलिए मैं अपनी भूल स्वीकार करते हुए आपसे क्षमा मांगता हूं।

मेरी इस भूल को शिशुवत व्यवहार समझ कर क्षमा करें। मैं यह वादा करता हूं कि इस भूल की पुनरावृत्ति नहीं होगी। शेष अगले पत्र में , मेरी क्षमा याचना स्वीकारने के बाद।

मां को चरण स्पर्श और छोटों को मेरा प्यार भरा स्नेह।
आपका प्रिय पुत्र
अनुज

Patra lekhan in Hindi Class 6
Patra lekhan in Hindi Class 7
Patra lekhan in Hindi Class 8
Patra lekhan in Hindi Class 9
Patra lekhan in Hindi Class 10
Patra lekhan in Hindi Class 11
Patra lekhan in Hindi Class 12

पत्र लेखन के विषय (patra lekhan topics in Hindi), पत्र लेखन प्रारूप Patra Lekhan Formats, औपचारिक पत्र Aupcharik Patra, अनौपचारिक पत्र  Anaupcharik Patra आदि के बारे में विस्तार से जानकारी के लिए यह पोस्ट पढ़ें:

पत्र लेखन PATRA LEKHAN | LETTER WRITING IN HINDI for FULL MARKS

औपचारिक एवं अनौपचारिक पत्र लेखन के 100 से अधिक उदाहरण 

आशा है कि भूल की क्षमा याचना करते हुए पिता को पत्र विषय पर प्रस्तुत पत्र लेखन के उदाहरण आपके लिए उपयोगी सिद्ध होंगे। आप इन पत्रों में थोड़ी बहुत फेर-बदल कर मिलते जुलते विषयों पर पत्र लेखन के प्रश्न हल कर सकते हैं। इस पत्र लेखन से मिलते जुलते निम्न विषयों पर पत्र लेखन का अभ्यास आप कर सकते हैं जिनसे आपको परीक्षा में अच्छे अंक लाने में सहता मिलेगी जैसे – , अपने अशोभनीय व्यवहार के लिए क्षमा याचना करते हुए प्रधानाचार्य को पत्र लिखिए, विद्यालय के प्रधानाचार्य को विद्यालय देर से पहुंचने का कारण बताते हुए क्षमा-याचना- पत्र लिखिए।, अपनी गलती की माफी मांगते हुए अपने मित्र को पत्र लिखिए, परीक्षा भवन में नकल करते हुए पकड़े जाने पर क्षमा याचना करते हुए प्रधानाचार्य को पत्र लिखे, पिता जी से अपनी गलती की क्षमा माँगते हुए पत्र लिखिए i, खिड़की का शीशा टूट जाने पर क्षमा मांगते हुए प्रार्थना पत्र, दंड माफी के लिए प्रार्थना पत्र, गलती के लिए माफी पत्र.

कृपया अपने सुझाव हमें अवश्य भेजें।

Hindi Patra Lekhan Topics

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *