CBSE Class 10 Hindi Muhavare मुहावरे Chapter wise

Advertisement

CBSE Class 10 Hindi B Muhavare मुहावरे

मुहावरे ऐसे गद्यांशों को कहते हैं जिनका प्रयोग करने भाषा में गति, रूचि और सुदृढ़ता आती है। भाषा में मुहावरों के प्रयोग से अद्भुत चित्रात्मकता आती है। मुहावरों से भाषा में लक्षण और व्यंजना के गुण आते हैं।

मूलतः मुहावरा अरबी भाषा का शब्द है जिसका अर्थ होता है बात करना या जवाब देना। हिंदी में मुहावरा शब्द का कोई पर्यायवाची शब्द नहीं है।

Advertisement

यहाँ पर हम कक्षा 10 के विद्यार्थियों के लिए हिंदी बी (HINDI B) पुस्तक के विभिन्न पाठों में आये हुए मुहावरों का अर्थ और वाकया प्रयोग स्पष्ट कर रहे हैं ताकि छात्र परीक्षा में पूछे जाने पर इन मुहावरों के प्रश्न में पूर्ण अंक प्राप्त कर सकें।

 

PATRA LEKHAN IN HINDI  | Letter Writing in Hindi – फुल मार्क्स के लिए पढ़ें 

CBSE Class 10 Hindi Muhavare मुहावरे Chapter बड़े भाई साहब

प्राण सूखना – डर लगना

रात में बाग़ से घर लौटते समय भेड़िये को देख कर रामलाल के प्राण सूख गए।

हंसी खेल होना- छोटी मोटी बात होना

तुम तो ऐसे बात कर रहे हो जैसे बिटिया का विवाह कोई हंसीं-खेल हो ।

आंखें फोड़ना बड़े ध्यान से पढ़ना

भाई, रमेश को तो परीक्षा में प्रथम आना ही था, आखिर साल भर आँखें फोड़ कर पढाई की है।

गाढ़ी कमाई – मेहनत की कमाई

सुरेश की दूकान में चोरी क्या हुई, उसका तो दिल ही टूट गया। आखिर उसकी गाढ़ी कमाई थी, कोई हराम की कमाई नहीं थी।

जिगर के टुकड़े टुकड़े होना- हृदय पर भारी आघात लगना

बेटे की शहादत की खबर सुनते ही वीरपाल के जिगर के टुकड़े-टुकड़े हो गए।

हिम्मत टूटना- साहस समाप्त होना

भाई, जब से दूकान में आग लगी और मेरा सारा सामान जल गया तब से तो मेरी हिम्मत टूट गयी है।

जान तोड़ मेहनत करना- अत्यधिक परिश्रम करना

लाला जी, अपने पिता की सौगंध खा कर कहता हूँ, जान-तोड़ मेहनत करूंगा लेकिन आपकी एक-एक पाई-पाई चुका कर रहूंगा।

दबे पांव आना -चोरी चोरी प्रवेश करना

सतीश जब बाहर शराब पीकर लौटा तो घर में दबे पांव घुसते समय पिता ने पकड़ लिया और बहुत खरी-खोटी सुनाई।

घुड़किया खाना- डांट सहना

नौकरी में तो साहब की हजार घुड़कियाँ खा कर भी चुप रहना पड़ता है, रोजी-रोटी का मामला जो ठहरा।

आड़े हाथों लेना- कठोर व्यवहार करना

रमेश मेधावी छात्र है लेकिन गलत संगती में उसका परीक्षा परिणाम खराब आया तो अध्यापक जी ने उसे आड़े हाथों लिया।

घाव पर नमक छिड़कना – दुखी को और दुख देना

एक तो लाला शामिल व्यापार में नुक्सान की वाकः से पहले ही दुखी थे ऊपर से सेठ दुनीचंद ने नगर व्यापार संघ के अध्यक्ष पद के चुनाव में उन्हें हरा कर उनके घाव पर नमक छिड़क दिया।

तलवार खींचना- लड़ाई के लिए उद्धत रहना

वैसे तो अजय-विजय दोनों सगे भाई हैं लेकिन खेतों के बंटवारे को लेकर दोनों में जब देखो तलवारें खिंची रहती हैं।

अंधे के हाथ बटेर लगना- योग्यता ना होने पर भी मूल्यवान वस्तु मिल जाना

वैसे तो शर्मा जी को कार्यालय का कोई काम नहीं आता है लेकिन चौधरी जी के अस्वस्थ होने के कारण विभागाध्यक्ष का चार्ज और मिल गया, इसे कहते हैं अंधे के हाथ बटेर लगना।

चुल्लू भर पानी देने वाला- मुश्किल वक्त में मदद करने वाला

पड़ोसियों से बना कर रखो वीरसिंघ, अभिमान अच्छा नहीं होता, कल कोई दिक्कत आई तो कोई चुल्लू भर पानी देने वाला न होगा।

दांतों पसीना आना – बहुत परेशानी में पड़ना

बेटी की शादी करने में रामपाल जी को दांतों पसीने आ गए।

लोहे के चने चबाना – बहुत मुश्किलों का सामना करना

रानी लक्समी बाई को परास्त करने में अंग्रेजों को लोहे के चने चबाने पड़ गए।

चक्कर खाना- भुलावे में पड़ जाना

ठग ने गहने दुगने करने का लालच देकर ऐसा चक्कर चलाया कि मोहल्ले की कई औरतें अपने जेवरों से हाथ धो बैठी।

आटे दाल का भाव मालूम होना – कठिनाइयों का सामना करना

बाप की कमाई पर बहुत ऐश कर ली तुमने, अब खुद गृहस्थी का बोझ उठाओगे तो आते-दाल का भाव मालूम होगा।

जमीन पर पांव ना रखना- बहुत खुश हो जाना

बेटे की सरकारी नौकरी की खबर सुन कर गुप्ता जी से तो मानो पांव जमीन पर न रखे जा रहे थे।

हाथ पांव फूल जाना- मुश्किल समय में घबरा जाना

फेरों के ठीक पहले दामाद ने कार की मांग कर डाली तो वर्मा जी के तो हाथ पांव फूल गए।

CBSE Class 10 Hindi Muhavare मुहावरे Chapter डायरी का एक पन्ना

रंग दिखाना -अपनी असलियत दिखाना

जब तक भाई जीवित था रमेश ने भतीजों से प्रेम बनाये रखा किन्तु भाई कि मृत्यु होते ही उसने अपना असली रंग दिखाना शुरू कर दिया।

ठंडा पड़ना- प्रयासों में कमी आना

प्राय: सभी विद्यार्थी आई आई टी में दाखिले का सपना देखते हैं किन्तु जब मेहनत करने की बारी आती है तो दो दिन में ही जोश ठंडा पद जाता है।

टूट जाना – हिम्मत टूटना, बिखर जाना

भाई, क्या कहूं, तुम तो जानते हो मैं बाधाओं से घबराने वाला व्यक्ति नहीं हूँ लेकिन जब से बेटे – बहु ने अपना घर अलग कर लिया तब से मैं तो अंदर से टूट गया हूँ ।

CBSE Class 10 Hindi Muhavare मुहावरे Chapter ततांरा वामीरो कथा

सुध बुध खोना- अपने बस में ना रहना

लता सुरेश के प्रेम में इस तरह पागल थी कि बस अपनी सुध-नूँध ही खो बैठी, न खाने का होश रहा न पहनने का, जब देखो बौराई सी घूमती रहती थी।

बाट जोहना- प्रतीक्षा करना इंतजार करना

जबसे बुआ जी को खबर मिली है कि उनका बेटा फौज से छुट्टी लेकर घर आने वाला है तब से बस उसी की बात जोह रही हैं, आँखें हैं कि दरवाजे से हटती ही नहीं।

खुशी का ठिकाना न रहना – बहुत अधिक प्रसन्नता का होना

अपने बेटे का इंजीनियरिंग में सेलेक्शन होने की खबर सुन कर शर्मा जी की ख़ुशी का ठिकाना ही न रहा, बस जिसे देखो यही समाचार सुनाते फिर रहे हैं।

आग बबूला होना- अत्यधिक क्रोधित हो जाना

माता कैकयी द्वारा षड्यंत्र कर भाई राम को वनवास की बात पता चलते ही भरत क्रोध से आग-बबूला हो उठा, उसने अपनी माता को जी भर कर खरी-खोटी सुनाई।

राह न सूझना- कोई उपाय समझ में ना आना

जीवन भर की कमाई उस धोखेबाज़ की बातों में आकर छह महीने में दोगुनी वाली स्कीम में लगा दी, अब न मेरा पैसा है न वह धोखेबाज़ ही कहीं नजर आता है। मैं क्या करूँ, मुझे तो अब आजीविका निर्वाह की कोई राह नहीं सूझती।

सुराग ना मिलना- कुछ पता ना चला

पुलिस ने सारी रात बस्ती में छानबीन की फिर भी दंगा फैलाने वाले बदमाशों का कोई सुराग न मिला।

CBSE Class 10 Hindi Muhavare मुहावरे Chapter तीसरी कसम के शिल्पकार शैलेंद्र

चक्कर खाना- घबराहट में पड़ जाना

पुलिस कोसुबह सुबह घर में आया देख मैं तो चक्कर खा गया, भला मेरे जैसे सीधे-सादे व्यक्ति के यहाँ पुलिस क्या लेने आई है?

सातवें आसमान पर होना- ऊंचाई पर होना,  उच्च सीमा पर होना

जबसे बेटे के सरकारी अफसर बनने की खबर आई है तब से जुम्मन चचा का दिमाग तो सातवें आसमान पर है। आदमी को आदमी समझ कर बात ही नहीं कर रहे।

तराजू पर तुलना- सही गलत का विचार करना

जीवन में कोई भी बड़ा फैसला लेने से फैसले उसे विवेक की तराजू पर तौल लेना चाहिए, नहीं तो बाद में पछताना पड़ सकता है।

हावी होना – अधिक प्रभावी होकर लाभ उठाना

रामलाल का बेटा जब से पटवारी हुआ है तब से गाँव के तमाम मामलों में हर किसी से हावी होने का प्रयास करते हैं।

CBSE Class 10 Hindi Muhavare मुहावरे Chapter गिरगिट

जिंदगी नर्क होना- अत्यधिक कष्ट पूर्ण जीवन बीतना

जबसे गाँव के पास ये केमिकल फैक्ट्री लगी है, इसकी चिमनी से जहरीला धुंआ सारे गाँव को प्रदूषित करता रहता है, समझ नहीं आता कहाँ जाएँ बस जिंदगी नर्क हो गयी है।

त्यौरियां चढ़ाना- बहुत क्रोध में आना

जैसे ही पिता को पता चला कि मैं स्कूल में शरारत करता हुआ पकड़ा गया उनकी त्योरियां चढ़ गयीं।

मजा चखाना – प्रतिशोध लेना

संजय ने अपने दोस्तों से कहा कि पडोसी मोहल्ले के लड़के खुद को ज्यादा ही दादा समझने लगे हैं, अब इनको मजा चखाना जरुरी है वरना ये जीना हराम कर देंगे।

मत्थे मढ़ना – किसी और का दोष सर पर लगाना

भाई लाला हरीराम से बेईमान इस दुनिया में ढूंढने से नहीं मिलेगा, चावल में मिलावट करते पकडे गए सारा दोष अपने नौकर बेचारे कालीराम के मत्थे मढ़ दिया।

तबाह होना – बर्बाद होना

इस बार जैसे बाढ़ आई वैसी कभी न देखी, न सुनी।  बस ये समझो के शहर के शहर, गाँव के गाँव तबाह हो गए।

गांठ बांध लेना- भली-भांति समझ लेना

बेटा शार्ट कट से मिली सफलता भले ही दो दिन खुशियां दे दे, लेकिन जीवन में अंतिम सफलता निरंतर प्रयास करने वालों को ही मिलती है, इस बात को गाँठ बाँध लेना।

CBSE Class 10 Hindi Muhavare मुहावरे Chapter अब कहां दूसरे के दुख में दुखी होने वाले

दीवार खड़ी करना – आपस में बंटवारा कर लेना

पिता की मृत्यु हुए चार महीने भी न हुए थे कि शर्मा जी के बेटों ने घर में दीवारें खड़ी करली। सच कहा है, भाइयों में प्यार भी माँ-बाप के जीवित रहते ही रहता है, फिर तो बहुएं बंटवारा करवाने में देर नहीं लगाती।

बेघर करना – आसरा छीन लेना

मुखिया जी ने खुशीराम की जमीन तो धोखे से हड़प ही ली उसका घर भी गिरवी रख ने पर मजबूर कर दिया। आखिर ऐसी भी क्या दुश्मनी की गरीब आदमी के बल-बच्चों को घर से बेघर करना चाहते हैं!

डेरा डालना – स्थाई रूप से बस जाना

हर साल गाँव में नदी पर से कुछ मजदूर काम करने आया करते थे और फसल काटने के बाद लौट जाते थे किन्तु इस बार तो उन्होंने गाँव में ही डाल दिया है। मुझे तो दाल में कुछ कला नजर आता है।

CBSE Class 10 Hindi Muhavare मुहावरे Chapter पतझड़ में टूटी पत्तियां

हवा में उड़ना- ऊंची ऊंची बातें करना

जब से सुमित्रा का चयन कॉलेज की सौंदर्य प्रतियोगिता में हुआ है तब से मानों हवा में उड़ रही है, सीधे मुंह बात ही नहीं करती।

CBSE Class 10 Hindi Muhavare मुहावरे Chapter झेन की देन

सन्नाटा सुनाई देना – कोई शोर ना होना, अत्यधिक शांति होना

पिछले साल गांव में ऐसी महामारी फैली कि हर घर से कोई न कोई अर्थी उठी। सारे गाँव में सन्नाटा सुनाई देता था।

CBSE Class 10 Hindi Muhavare मुहावरे Chapter कारतूस

तंग आना- परेशान होना

वर्मा जी ने अपने बेटों से कहा कि अगर मिल कर शांति से साथ नहीं रह सकते तो अलग हो जाओ , रोज़ रोज़ की चिक-चिक से तो मैं तंग आ गया हूँ।

कामयाब होना- सफलता पाना

कामयाब होने के लिए जीवन में ईमानदारी का रास्ता चुनो भाई, इस धोखेबाज़ी के रस्ते पर चल कर आखिर में पछताना ही पड़ेगा।

आंखों में धूल झोंकना- धोखा देना, निकल भागना

चोर ने दरोगा से कहा कि उसे लघुशंका लगी है और इस बहाने से झाड़ियों के पीछे जाने की अनुमति मांग कर भाग गया। दरोगा की आँखों में धुल झोंक कर फरार हो गया।

काम तमाम करना – मार डालना, वध करना

आतंकवादी ने जिस मकान में शरण ली हुई थी भारतीय सैनिक ने उसी मकान में घुस आतंकी का एक ही गोली से काम तमाम कर दिया।

नजर रखना – निगरानी रखना

जेलर ने सिपाही से कहा कि इस चोर पर नजर रखना, ये पहले भी जेल से फरार हो चुका है।

जान बख्शना – हत्या ना करना, मृत्युदंड माफ करना

दरबारी ने बादशाह से कहा कि जान बख्श दी जाए तो वह बादशाह को एक बुरी खबर सुनाना चाहता है।

1000 Hindi Muhavare हिन्दी मुहावरे

 

Advertisement