चरित और चरित्र में अंतर – श्रुतिसम भिन्नार्थक शब्द युग्म

चरित और चरित्र में क्या अंतर है – समोच्चरित भिन्नार्थक शब्द युग्म

चरित का अर्थ – जीवनी

चरित्र का अर्थ – आचरण

चरित का वाक्य प्रयोग-

आधुनिक काल में जीवनी लिखने की परंपरा की शुरुआत की।

चरित्र का वाक्य प्रयोग-

उसके चरित्र पर संदेह करना अकल्पनीय है ।

charit ka arth – jeevni

charitra ka arth – aacharan

चरित और चरित्र शब्द युग्म के बारे में विभिन्न परीक्षाओं में कई प्रकार से प्रश्न पूछे जाते हैं। जैसे –

चरित का अर्थ, चरित्र का अर्थ, चरित और चरित्र में अंतर बताइये, चरित का वाक्य प्रयोग, चरित्र का वाक्य प्रयोग, चरित और चरित्र श्रुतिसम भिन्नार्थक शब्द युग्म में अंतर स्पष्ट कीजिये, आदि।

समोच्चरित भिन्नार्थक शब्द युग्म की विस्तार से जानकारी के लिए निम्न पोस्ट पढ़ें :-

500 श्रुतिसम भिन्नार्थक शब्द युग्म

10 Important शब्द युग्म जो परीक्षा में पूछे जा सकते हैं।

[display-posts category_id=”2915″  wrapper=”div”
wrapper_class=”my-grid-layout”  posts_per_page=”10″]

Leave a Reply