पत्र लेखन for class 5 | Letter writing in Hindi for class 5

Hindi Patra Lekhan for class 5

यहाँ पर कक्षा 5 के छात्र – छात्राओं के लिए विभिन्न विषयों  पर हिन्दी पत्र लेखन के उदाहरण दिये गए हैं :

Hindi Patra Lekhan for Class 5 – अवकाश प्रदान करने के लिए प्रधानाध्यापक को पत्र लेखन

सेवा में
प्रधानाचार्य महोदय
डीएवी पब्लिक स्कूल
श्रेष्ठ विहार, नई दिल्ली

विषय – तीन दिन के अवकाश के संबंध में।
महोदय
सविनय निवेदन है कि मैं, उत्तम कुमार, आपके विद्यालय की कक्षा पाँच “अ” का छात्र हूँ। कल विद्यालय से वापस आते समय मैं बारिश में भीग गया था। उसके बाद कल रात से मुझे बुखार और जुकाम हो गया है। मैंने आज सुबह चिकित्सक को दिखाया है और चिकित्सक ने मुझे दावा दे कर तीन दिन घर पर ही आराम करने की सलाह दी है। इस कारण मैं दिनांक 12 अगस्त से 14 अगस्त, 20– तक कक्षा में उपस्थित रहने में असमर्थ हूँ।

अतः आपसे अनुरोध है कि तीन दिन का अवकाश स्वीकृत करने की कृपा करें।
सधन्यवाद
आपका आज्ञाकारी शिष्य
उत्तम कुमार
पंचम “अ” अनुक्रमांक-38
दिनांक – 12 अगस्त 20–

Hindi Patra Lekhan for Class 5 – शिक्षण शुल्क मुक्ति के लिए प्रधानाध्यापक को पत्र लेखन

सेवा में
प्रधानाचार्य महोदय
डीएवी पब्लिक स्कूल
श्रेष्ठ विहार, नई दिल्ली

विषय – शुल्क मुक्ति के संबंध में प्रार्थना पत्र
महोदय
सविनय निवेदन है कि मैं आपके विद्यालय की कक्षा पाँच “स” की छात्रा हूँ। मेरे पिता फायर ब्रिगेड विभाग में अस्थायी कर्मचारी हैं जिंका वेतन मात्र रुपये 6000 प्रति माह है । मेरे दो छोटे भाई भी इसी विद्यालय में कक्षा तीन और कक्षा एक में पढ़ते हैं।
मैंने कक्षा एक से लेकर कक्षा चार तक प्रति वर्ष अपनी कक्षा में प्रथम स्थान प्राप्त किया है किन्तु पिता की कम आय के कारण मेरा शिक्षण शुल्क भरने में कठिनाई आ रही है। अतः आपसे निवेदन है कि मेरे परिवार की कमजोर आर्थिक स्थिति के आधार पर मुझे पूर्ण शिक्षण शुल्क मुक्ति प्रदान करें। आपकी महती कृपा होगी।

अतः आपसे अनुरोध है कि तीन दिन का अवकाश स्वीकृत करने की कृपा करें।
सधन्यवाद
आपकी आज्ञाकारिणी शिष्या
राधिका शर्मा
पंचम “स” अनुक्रमांक-27
दिनांक – 12 अगस्त 20–

Hindi Patra Lekhan for Class 5 – जन्म दिन पर मामा जी द्वारा भेजे गए उपहार के लिए धन्यवाद का पत्र लिखिए।

मधुविहार,
दिल्ली।

दिनांक १२ नवम्बर, 20xx

आदरणीय मामा जी,
सादर प्रणाम

आज जैसे ही मैं सो कर उठा, माँ ने मुझे आपकी भेजी हुई घड़ी देकर जन्म दिन की बधाई दी। आपने मुझे सदा परिश्रम और अनुशासन की शिक्षा दी है और इस घड़ी को मैं आपकी इन्हीं शिक्षाओं का प्रतीक मन कर पाना करूँगा ताकि मुझे हमेशा समय का पालन करने की प्रेरणा मिलती रहे। मैं आपको विशवास दिलाता हूँ कि आपके इस उपहार को सार्थक कर मैं जीवन में समय सीमा के अनुसार सरे कार्य करता हुआ सफलता की और बढ़ता रहूँगा।

मेरे सभी मित्रों ने आपकी भेजी हुई घड़ी की सराहना की है। यह घड़ी है ही इतनी सुन्दर और आकर्षक कि मन करता है सोते समय भी इसे पहन कर ही सो जाऊं।

मामाजी, आप भी यदि आज मेरे जन्मदिन पर आ सकते तो मुझे और भी ख़ुशी होती किन्तु मैं जनता हूँ कि आप आर्मी में हैं और सेना में अवकाश मिलना इतना आसान नहीं होता। मैं भी एक दिन आप ही की तरह सेना में अधिकारी बनना चाहता हूँ।

माताजी आपको याद कर रही हैं। इस सुन्दर घड़ी के उपहार के लिए आपको एक फिर से बहुत बहुत धन्यवाद।

आपका भांजा,
नवल किशोर

पत्र लेखन PATRA LEKHAN | LETTER WRITING IN HINDI for FULL MARKS

Hindi Patra Lekhan for Class 5 – कक्षा में देर से आने पर प्रवेश के अनुमति के लिए पत्र 

सेवा में
कक्षा अध्यापक महोदय,

गुड एंजेल पब्लिक स्कूल
जनता विहार, नई दिल्ली

विषय – कक्षा में आने में हुई देरी के लिए पत्र
महोदय

सविनय निवेदन है कि आज प्रातः जब मैं विद्यालय के लिए घर से निकला तो मेरी साईकिल का तैयार पंचर हो गया। मुझे पुनः वापस घर लौटना पड़ा ताकि मेरे पिताजी मुझे अपने स्कूटर से विद्यालय छोड़ सकें। किन्तु ऐसा होने में मुझे पहली कक्षा में आने में देर हो गयी । कृपा करके मुझे कक्षा में प्रवेश की अनुमति प्रदान करें। आपकी महती कृपा होगी।
सधन्यवाद.

आपका आज्ञाकारी छात्र
संजय शर्मा
पंचम “ब” अनुक्रमांक-31
दिनांक – १८ जुलाई 20xx

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *