Advertisement

Samvad Lekhan फल विक्रेता और ग्राहक के बीच संवाद – संवाद लेखन

Phal vikreta aur grahak ke beech samvad- Samvad Lekhan

ग्राहक : अरे भैया ये पपीता क्या भाव दिया ?

फल विक्रेता : जी अस्सी रूपये किलो ।

Advertisement

ग्राहक : क्या…अस्सी रूपये ?

फल विक्रेता : जी साहब ।

Advertisement

ग्राहक : भैया आजकल तो पपीते का मौसम है तब भी इतना महंगा दे रही हो ?

फल विक्रेता : जी मैं अपने मन से पैसे नहीं ले रहा । आप चाहें तो आस-पास सारी जगह पूछ लीजिये कोई भी इससे कम नहीं बताएगा ।

Advertisement

ग्राहक : भैया वो तो आप लोगों की एक-जुटता है कि सब एक ही दाम बताते हैं ।

फल विक्रेता : साहब मेहनत की कमाई खा रहे हैं । सत्तर रूपये तो मैं ही लाया हूँ मंडी से अब दस रूपये तो कमाऊँगा ही ना किलो में ।

ग्राहक : हाँ भाई तुम भी कमाने ही निकले हो । पर कुछ तो कम करो ।

Advertisement

फल विक्रेता : चलिए साहब, बोनी का टाइम है आप पिचहत्तर रूपये दे दीजिये ।

ग्राहक : अच्छा भैया एक बात तो बताओ ये केमिकल के पके हुए हैं या डाल के क्योंकि यह पपीता मैंने मरीज को देना है ।

फल विक्रेता : जी आप निश्चिन्त होकर ले जाइए, ये डाल के पके हुए हैं और मीठे भी हैं । आप कहें तो काट कर चखाऊँ ?

ग्राहक : नहीं-नहीं भईया काटो-वाटो मत ।एक किलो पपीता अच्छे से पका हुआ निकाल दो ।

यह संवाद लेखन विद्यार्थियों के लिए निम्न विषयों पर उपयोगी होगा – Samvad Lekhan, samvad lekhan meaning, samvad lekhan in hindi for class 8, samvad lekhan meaning in english, samvad lekhan in hindi for class 7, samvad lekhan format class 9, samvad lekhan marathi, shunya kachra samvad lekhan, 5 samvad lekhan, samvad lekhan in hindi for class 6, samvad lekhan in hindi for class 5, samvad lekhan in hindi for class 10

Advertisement

One thought on “Samvad Lekhan फल विक्रेता और ग्राहक के बीच संवाद – संवाद लेखन

Leave a Reply

Your email address will not be published.