Rahim ke dohe समय दसा कुल देखि कै, सबै करत सनमान।

Advertisement

Rahim ke dohe in Hindi:

समय दसा कुल देखि कै, सबै करत सनमान।
रहिमन दीन अनाथ को, तुम बिन को भगवान।।

Samay sadaa kul dekhi kai, sabai karat sanmaan
Rahiman deen anaath ko, tum bin ko bhagwaan

रहीम के दोहे का अर्थ:

अज्ञानी मानव की यह सहज प्रवृत्ति है कि वह लोगों की संपन्नता व दीनता देखकर उसी के अनुकूल उनको मानता है। संपन्न व्यक्ति उसकी दृष्टि में श्रेष्ठ होते हैं और दीन व्यक्ति हेय। जबकि होना यह चाहिए कि सबको एक दृष्टि से देखा जाए। अन्यथा दीन व्यक्ति का तो समाज में रहना दूभर हो जाएगा।

अतः रहीम का भगवान से अनुरोध है, लोगों की मति मारी गई है। वे समय, दशा और कुल देखकर सबका सम्मान करते हैं। यदि किसी का बुरा समय चल रहा है, उसकी दिशा चिंतनीय है अथवा वह निर्धन कुल से संबंधित है तो उसका सम्मान कोई नहीं करता। हे भगवान! ऐसे दीन अनाथों का तुम्हारे बिना कोई नहीं। तुम्हारी दया ही उनका जीवनाधार है।

Advertisement

Rahim ke dohe रहीम के 25 प्रसिद्ध दोहे अर्थ व्याख्या सहित

25 Important परीक्षा में पूछे जाने वाले रहीम के दोहे :

अक्सर प्रतियोगी परीक्षाओं और विद्यालयी परीक्षाओं में रहीम के दोहे संबन्धित प्रश्न पूछे जाते हैं जिनमें मार्क्स लाना आसान होता है किन्तु सही जानकारी और अभ्यास के अभाव में अक्सर विद्यार्थी रहीम के दोहों के प्रश्न में अंक लाने में कठिनाई अनुभव करते हैं। हमने प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे जाने वाले रहीम के दोहों को अर्थ एवं व्याख्या सहित संग्रहीत किया है जिनका अभ्यास करके आप पूर्ण अंक प्राप्त कर सकते हैं।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *