उर्मिलेश में कौन सी संधि है? उर्मिलेश शब्द का संधि विच्छेद उर्मिलेश में प्रयुक्त संधि का नाम

Advertisement

Urmilesh mein kaun si Sandhi hai?

उर्मिलेश में कौन सी संधि है? उर्मिलेश शब्द का संधि विच्छेद उर्मिलेश में प्रयुक्त संधि का नाम

उर्मिलेश शब्द में गुण संधि है। विद्यार्थियों के लिए गुण संधि के बारे में संक्षेप में जानकारी इस प्रकार है:-

उर्मिलेश का संधि विच्छेद क्या है?

उर्मिलेश का संधि विच्छेद = उर्मिला + ईश, जिन स्वरों में संधि है = आ + ई= ए (गुण)

Advertisement

विद्यार्थियों के लिए गुण संधि के बारे में संक्षेप में जानकारी इस प्रकार है:-

गुण संधि की परिभाषा

जब ( अ, आ ) के साथ ( इ, ई ) हो तो ‘ ए ‘ बनता है, जब ( अ, आ )के साथ ( उ, ऊ ) हो तो ‘ ओ ‘बनता है, जब ( अ, आ ) के साथ ( ऋ ) हो तो ‘ अर ‘ बनता है। उसे गुण संधि कहते हैं।

गुण संधि के उदाहरण :-

आ + इ= ए, भारत + इंदु = भारतेन्दु
अ + इ= ए, देव + इन्द्र= देवन्द्र
अ + उ= ओ, चन्द्र + उदय= चन्द्रोदय
आ + ऋ= अर्, महा + ऋषि= महर्षि

विभिन्न परीक्षाओं में उर्मिलेश में कौन सी संधि है आदि प्रश्न कई प्रकार से पूछे जाते हैं।जैसे कि :-

Advertisement

उर्मिलेश शब्द में कौन सी संधि है?
उर्मिलेश का संधि विग्रह?
उर्मिलेश में कौन सी संधि है?
उर्मिलेश का संधि भेद कीजिये?
उर्मिलेश संधि का नाम बताइये?
उर्मिलेश का संधि विच्छेद?

परीक्षा में दिये गए शब्द में कौन सी संधि है अथवा संधि विच्छेद के प्रश्न सदैव स्कोरिंग होते हैं क्योंकि आपको मात्र एक-दो शब्द ही लिखने होते हैं। इसके लिए आपको लिख-लिख कर अभ्यास करते रहना चाहिए।

विभिन्न संधि की परिभाषा, भेद एवं उदाहरण की विस्तार से जानकारी के लिए निम्न पोस्ट पढ़ें :-

25 Important शब्द के संधि विच्छेद जो परीक्षा में पूछे जा सकते हैं।

Advertisement